REWA NEWS : राजेंद्र शुक्ला के मंत्री बनने से सियासी गर्मी तेज ! क्या बीजेपी होगी भीतर घात की शिकार ?

Estimated read time 1 min read
Spread the love

REWA NEWS : राजेंद्र शुक्ला के मंत्री बनने से सियासी गर्मी तेज ! क्या बीजेपी होगी भीतर घात की शिकार ?

Table of Contents

REWA NEWS : सियासत विंध्य की 

बीजेपी मध्यप्रदेश में हर क्षेत्र में लोगों की नाराजगी दूर करने में जुटी है। उनमें से एक विंध्य भी है। 2018 के विधानसभा चुनाव में विंध्य बीजेपी का मजबूत किला रहा है। पार्टी ने 30 में से 24 सीटें जीती थी। 2020 में जब बीजेपी की सरकार बनी तो उस हिसाब से विंध्य को प्रतिनिधित्व नहीं मिला है। इसके बाद विंध्य इलाके से बगावती सुर सुनाई देने लगे थी। यही वजह रही कि बीजेपी के किले में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने सेंधमारी कर ली है। रैगांव उपचुनाव बीजेपी हार गई। विंध्य में मेयर की कुर्सी पर आप और कांग्रेस कब्जा जमा लिया। इसके साथ ही पेशाब कांड के बाद बीजेपी के लिए स्थिति अनुकूल नहीं थी।

REWA NEWS : अब कहां गया मामा का बुलडोजर! नावालिग आदिवासी लड़की का अपहरण कर………

दरअसल, विंध्य में ब्राह्मणों का दबदबा है। इसके बाद कुछ जिलों में आदिवासियों का वर्चस्व है। सीधी पेशाब कांड के बाद सरकार के सामने दो मुसीबतें खड़ी हो गई थीं। पहली यह थी कि आदिवासी समाज के लोग नाराज हो रहे थे। आदिवासियों को खुश करने के लिए आरोपी प्रवेश शुक्ला पर कठोर कार्रवाई की गई। साथ ही पीड़ित दशमत रावत के सीएम ने पैर पखार कर डैमेज कंट्रोल किया। वहीं, प्रवेश शुक्ला के घर पर बुलडोजर चलवा दिया। बुलडोजर चलने के बाद ब्राह्मण समाज नाराज हो गया।

REWA NEWS : क्या बीजेपी होगी भीतर घात की शिकार ?

ब्राह्मण समाज की नाराजगी को दूर करने के लिए बीजेपी मंत्री कार्ड खेला है। विंध्य इलाके के कद्दावर नेता राजेंद्र शुक्ला को सरकार में मंत्री पद दे दिया। उन्हें मंत्री तब बनाया गया है, जब चुनाव में डेढ़ महीने का वक्त बचा है। ऐसे में बीजेपी के अंदर से ही विरोध के स्वर उठने लगे हैं। सीधी से विधायक केदार शुक्ला ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार सिर्फ असंतोष को कम करने के लिए किया गया है। इससे बहुत ज्यादा फायदा नहीं हुआ है।

वहीं, विंध्य एक समय में कांग्रेस का गढ़ रहा है। ब्राह्मण वोटरों को साधकर बीजेपी ने उस इलाके में दबदबा बनाया है। विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम भी विंध्य से हैं। विंध्य को साधने के लिए सरकार ने मऊ को जिला बना दिया है। साथ ही मैहर के नाम का भी ऐलान कर सकती है। विंध्य में पहले सात जिले थे। इस बार मऊ के बनने से कुल आठ जिले हो गए हैं। सबसे अधिक सीटें रीवा और सतना में है।

अन्य खबरे

यह भी पढ़े

+ There are no comments

Add yours