Mp Crime News : सीधी के बाद शिवपुरी में भी दलित के साथ ही क्यू हुई घटना! क्या सच में खिलाया गया मल

Estimated read time 1 min read
Spread the love

Mp Crime News : सीधी के बाद शिवपुरी में भी दलित के साथ ही क्यू हुई घटना! क्या सच में खिलाया गया मल

Table of Contents

दलित युवक को खिलाया गया मल

सीधी जिले में दलित युवक के साथ हुए पेशाब कांड के बाद शिवपुरी में मुस्लिम समुदाय द्वारा दलित युवको को छेड़खानी के आरोप में मल खिलाया गया। आपको बता दे की अर्जुन जाटव और संतोष केवट नाम के दो दलित युवकों को लड़की छेडने के आरोप में गांव वालो द्वारा  अमानवीय व्यवहार किया गया। पहले तो जूतों की माला पहना कर पिटाई की गई और फिर आवेश में आकर मल खिलाया गया।

LokSabha Election 2024 : राहुल गाँधी की सजा के बाद कांग्रेस किस पे खेलेगी दांव! जानिए विस्तार से

आरोपियों के घर चला बुलडोजर

शिवपुरी जिले में हुए मल कांड के दोषियों के घर पर प्रशासन ने कार्रवाई की, यहां पर आरोपियों के द्वारा जो अतिक्रमण किया गया था उस पर बुलडोजर चला।  ग्राम पंचायत और पुलिस के आला अधिकारियों की मौजूदगी में यह कार्रवाई की गई।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के सीधी में भी अमानवीय व्यवहार के इसी तरह के मामले में आरोपी के मकान पर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई थी और अब शिवपुरी जिले की नरवर वरखाड़ी गांव में भी अमानवीय व्यवहार करने वाले आरोपियों पर कार्रवाई की गई है।

Rewa Crime News : चोरहटा पुलिस ने 2वर्ष पूर्व गुम हुए व्यक्ति की हुई हत्या की गुत्थी सुलझाई

आरोपियों में दो महिलाएं भी शामिल

बताते चले  कि इस मामले में सात लोगों पर दो युवकों के साथ अमानवीय व्यवहार करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया था। सात आरोपियों में दो महिलाएं शामिल हैं। 6 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्त्तार कर लिया है। एक आरोपी फरार है।  दोनों युवकों के साथ बरते गए अमानवीय व्यवहार और उनके साथ मारपीट करने वालो  के  खिलाफ पुलिस ने  आपराधिक प्रकरण दर्ज कर लिया है। दोनों पीड़ित युवकों की शिकायत पर इस मामले में पुलिस ने वरखाड़ी गांव के रहने वाले अजमत खान, वकील खान, आरिफ खान, शाहिद खान, इस्लाम खान, रहीशा बानों, साइना बानों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज किया गया था।एक आरोपी वकील खान को छोड़कर सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्त्तार कर लिया है। फरार वकील खान की तलाश में पुलिस जुटी हुई है।

अन्य खबरे

यह भी पढ़े

+ There are no comments

Add yours